Arvindasava benefits
औषधी दर्शन

अरविंदासव: बच्चो से लेकर बुजुर्गो तक की 10 बीमारियों का एक आसान उपाय

अरविंदासव का परिचय Introduction of Arvindasava

Table of Contents

अरविंदासव क्या है?? What is Arvindasava

अरविंदासव एक आयुर्वेदिक औषधि है|यह औषधि अरविंद अर्थात कमल के फूल से बनाई जाती है इसलिए इस औषधि को अरविंदासव कहा जाता है|यह औषधि बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद औषधि है और इस औषधि का प्रयोग बच्चों की पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए भी किया जाता है|

यह औषधि मुख्य रूप से बच्चों के लिए होती है परंतु वयस्क लोगों की कुछ बीमारियों में भी यह औषधि काम आती है|यह औषधि बच्चों की खांसी को दूर करती है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है|यह औषधि भूख बढ़ाने में भी सहायक है और इस औषधि का प्रयोग करने से बच्चों की शारीरिक और मानसिक शक्ति में भी विकास होता है|

अरविंदासव औषधि के घटक द्रव्य Contents of Arvindasava

  1. सफेद कमल
  2. खस
  3. गंभारी की छाल
  4. नीलकमल
  5. मंजिष्ठा
  6. छोटी इलायची
  7. खंरेटी मूल
  8. जटामांसी
  9. नागर मोथा
  10. काली अनंतमूल
  11. हरड
  12. बहेड़ा
  13. बच
  14. आंवला
  15. कचूर
  16. काली निसोत
  17. नील के बीज
  18. पटोल पत्र
  19. पित्त पापड़ा
  20. अर्जुन की छाल
  21. मुलेठी
  22. महुआ के फूल
  23. मुरा
  24. मुनक्का
  25. धाय के फूल
  26. शक्कर
  27. शहद
  28. जल
Arvindasava contents herbal arcade
Arvindasava contents herbal arcade

अरविंदासव औषधि बनाने की विधि How to make Arvindasava

यह एक आयुर्वेदिक औषधि है|यह औषधि आसव विधि द्वारा बनाई जाती है| इस औषधि को बनाने के लिए सबसे पहले सफेद कमल,खस ,गंभारी की छाल, नीलकमल, मंजिष्ठा, छोटी इलायची,खरेंटी मूल, जटामांसी, नागर मोथा, काली अनंतमूल, हरड़, बहेड़ा, बच, आंवला, कचूर ,काली निसोत ,नील के बीज,पटोल पत्र, पित्त पापड़ा, अर्जुन की छाल, मुलेठी, महुआ के फूल और मुरा इन सारी औषधियों को अच्छे से साफ करके यव कूट बना ले

|इसके बाद मुनक्का ,धाय के फूल, शक्कर एवं शहद को और पानी को उचित मात्रा में मिला दिया जाता है| अब इस मिश्रण में बाकी बची सारी औषधियों को डाल दिया जाता है| अब इसे किसी सुरक्षित पात्र में रखकर किसी सुरक्षित स्थान पर रख दिया जाता है|अभी से 1 महीने तक इसे इसी तरह रखा जाता है|1 महीने के भीतर यह औषधि तैयार हो जाती है| अब इस औषधि का सेवन सुरक्षित रूप से सभी रोगों को मिटाने के लिए किया जा सकता है|यह तैयार औषधि अरविंदासव है|

अरविंदासव औषधि के फायदे और उपयोग Benefits of Arvindasava

1)अरविंदासव बच्चों का कुपोषण दूर करें

आजकल के बदलते परिवेश और खान-पान के कारण तथा बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण कोई भी रोग उन्हें आसानी से घेर लेता है|कई जगह गरीबी होने के कारण माता पिता अपने बच्चों को सही प्रकार का पोषण युक्त भोजन उपलब्ध नहीं करा पाते हैं जिसके कारण बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते हैं|

ऐसी स्थिति में कुपोषण को खत्म करने के लिए अरविंदासव औषधि एक सर्वोत्तम औषधि होती है| इस औषधि का सेवन करने से बच्चों में कुपोषण जैसी समस्या दूर होती है|इस औषधि का सेवन करने वाला प्रत्येक बच्चा पोषण से भरपूर होता है जिसके कारण कोई भी रोग उन्हें आसानी से नहीं घेर पाता है|इस औषधि का सेवन करने से बच्चे स्वस्थ जीवन जी सकते हैं|

2) शारीरिक और मानसिक शक्ति बढ़ाने में सहायता करें

कई बच्चे जन्मजात शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर होते हैं|यह बच्चे इसलिए कमजोर होते हैं क्योंकि इन्हें सही तरह का खानपान उपलब्ध नहीं हो सकता है|खानपान ऐसी महत्वपूर्ण चीज है जो यदि सही तरीके से जीवन में ना अपनाई जाए तो कई तरह की समस्याएं हमें घेर लेती है|ऐसी स्थिति में इन सारी समस्याओं से बचने और बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से शक्ति पहुंचाने के लिए अरविंदासव औषधि का प्रयोग किया जाना चाहिए|

यह औषधि बच्चों के शरीर को सुदृढ़ बनाती है और मस्तिष्क को मजबूत बनाने में सहायता करती है| इसीलिए शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर बच्चों को अरविंदासव औषधि का सेवन करवाना चाहिए| इस औषधि में उपस्थित सभी जड़ी बूटियां बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से ताकत देती है|

3) बच्चों में सूखा रोग को खत्म करें

सूखा रोग हड्डियों का एक रोग है| यह रोग प्राय बच्चों में पाया जाता है| बच्चों में हड्डियों की नरमाई या हड्डियों के कमजोर होने को सूखा रोग कहते हैं| इस रोग को रिकेट्स रोग भी कहा जाता है| इस समस्या के कारण बच्चों की रीड की हड्डी में और पैरों में सामान्य मोड आ जाते हैं या टेढ़ापन आ जाता है|इस रोग में मदद के लिए अरविंदासव औषधि का प्रयोग करना चाहिए|इस औषधि के औषधीय गुण सूखा रोग को समाप्त करने में सहायक होते हैं|

अरविंदासव के फत्दे herbal arcade
अरविंदासव के फत्दे herbal arcade

4)अरविंदासव बार-बार होने वाली खांसी और कफ में लाभदायक

मनुष्य के शरीर में जब कफ बढ़ जाता है तो यह सबसे अधिक प्रभाव फेफड़ो पर गले पर और श्वसन तंत्र पर दिखाता है| इन सब पर प्रभाव दिखाने के कारण मनुष्य में सामान्यतः खांसी जुखाम जैसे लक्षण दिखाई देते हैं| कफ बढ़ जाने के कारण कभी-कभी सांस लेने में भी तकलीफ आती है|और खांसी भी बढ़ जाती है|

इस औषधि का सेवन करने से बार-बार होने वाली खांसी में लाभ मिलता है| इस औषधि के औषधीय गुण शरीर में अधिक कफ का नियंत्रण करती है जिससे बार-बार होने वाली खांसी कम हो जाती है|अतःबार-बार होने वाली खांसी और कफ के लिए अरविंदासव एक कारगर औषधि है|

5) पाचन तंत्र को मजबूत करें

यह औषधि कमजोर पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में सहायता प्रदान करती है| कमजोर पाचन तंत्र के कारण शरीर में अपच, कब्ज और गैस जैसी समस्याएं होने लगती है| और कभी कभी पेट दर्द भी कमजोर पाचन तंत्र के कारण हो सकता है| व्यक्ति के शरीर में उपस्थित मंद पाचक अग्नि के कारण भोजन सही से नहीं पच पाता है इसी के कारण यह सारी समस्याएं जन्म लेती है|

यह औषधि शरीर के भीतर जाकर मंद पाचक अग्नि को तीव्र करती है जिसके कारण भोजन का पाचन आसानी से और जल्द होने लगता है| जब भोजन का पाचन आसानी से होने लगता है तब अपच, कब्ज और गैस जैसी समस्याएं खत्म हो जाती है और व्यक्ति तंदुरुस्त महसूस करता है| इस औषधि के कारण व्यक्ति को सही समय पर सही मात्रा में भूख लगती है तथा व्यक्ति उचित मात्रा में भोजन करता है जिसके कारण व्यक्ति का शरीर सुदृढ़ और पुष्ट रहता है| अरविंदासव औषधि भूख ना लगने या कम भूख लगने जैसी समस्याओं में भी असरदार होती है|

6) दस्त में लाभकारी

दूषित खान पान या अधिक भारी खाने के कारण या फिर अधिक मसालेदार खाना खा लेने के कारण व्यक्ति को दस्त जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है| ऐसी स्थिति में अरविंदासव औषधि का प्रयोग करने से दस्त जैसी समस्याओं में आराम मिलता है| यह औषधि दस्त के कारण शरीर में आई कमजोरी को भरने में भी सहायक होती है|

7)अरविंदासव पुरुषों के सुजाक रोग में लाभदायक

यह रोग महिलाओं और पुरुषों दोनों में ही पाया जाता है| यह औषधि पुरुषों के सुजाक रोग को खत्म करने में सहायता करती है| इस रोग में पेशाब करते समय जलन होती है|कभी-कभी सुजाक वाले व्यक्ति को अंड ग्रंथि में दर्द होता है| इस रोग से छुटकारा पाने के लिए अरविंदासव औषधि की सहायता लेनी चाहिए| यह औषधि शरीर के भीतर जाकर इस रोग से उत्पन्न समस्याओं और इस रोग को खत्म करने में मदद करती है|

8) महिलाओं में रक्त प्रदर की समस्या खत्म करें

यह औषधि महिलाओं में होने वाली रक्त प्रदर की समस्या को खत्म करने में लाभदायक मानी जाती है| इस औषधि के साथ प्रवाल पिष्टी ,मुक्ताशुक्ति पिष्टी, मोचरस और अशोकारिष्ट को मिलाकर देने से इस समस्या का नाश होता है|

9) अरविंदासव रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

यह औषधि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य करती है| प्रदूषित खान-पान के कारण और प्रदूषित वातावरण के कारण मनुष्य में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होना एक आम बात है| रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण मनुष्य जल्दी किसी भी रोग की चपेट में आ जाता है| वायरस और बैक्टीरिया द्वारा मनुष्य को घेर लिए जाने के बाद मनुष्य उनसे लड़ने की क्षमता खो देता है|

इस क्षमता को बढ़ाने के लिए अरविंदासव औषधि का प्रयोग करना चाहिए| यह औषधि कम प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्ति के शरीर में जाकर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है जिससे व्यक्ति रोगों से लड़ने में सहायक होता है और कोई भी रोग व्यक्ति को आसानी से नहीं घेर सकते हैं| यह औषधि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ व्यक्ति की उम्र बढ़ाने का भी काम करती है|

10) वात दोष को खत्म करें

यह औषधि वात दोष को खत्म करने में फायदेमंद है| वात दोष के कारण शरीर के अंगों में रूखापन, सुई चुभने जैसा दर्द होना, हड्डियों के जोड़ों में ढीलापन ,हड्डियों का खिसकना और टूटना तथा अंगों का टूटना या सुन्न होना और त्वचा का फीका पड़ना इस रोग में होने वाली समस्याएं हैं|इन सारी समस्याओं को खत्म करने के लिए अरविंदासव सहायक औषधि के रूप में उपयोग की जाती है| इसलिए इस समस्या से जूझ रहे व्यक्ति को अरविंदासव औषधि का प्रयोग करना चाहिए|

अरविंदासव औषधि की सेवन विधि और मात्रा Doses of Arvindasava

आयुमात्रा                    
बच्चों के लिए5 मिलीलीटर
वयस्क व्यक्तियों के लिए10 से 20 मिलीलीटर
सेवन का उचित समयसुबह और शाम
दिन में कितनी बार सेवन करेंदिन में दो बार भोजन के बाद
किसके साथ सेवन करेंगुनगुने पानी के साथ
औषधि के सेवन की अवधिचिकित्सक की सलाह अनुसार

अरविंदासव औषधि का सेवन करते समय रखी जाने वाली सावधानियां Precautions of Arvindasava

  • इसका सेवन अत्यधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए|
  • इस औषधि को नेमी से बचा कर रखना चाहिए|
  • इस औषधि के सेवन से पहले चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए|
  • गर्भावस्था और स्तनपान कराने वाली महिलाएं इसके उपयोग से पहले चिकित्सक से सलाह जरूर लें|

अरविंदासव औषधि की उपलब्धता Availability of Arvindasava

  1. बैधनाथ अरविंदासव (BAIDYANATH ARVINDASAV)
  2. डाबर अरविंदासव (DABUR ARVINDASAV)
  3. धूतपापेश्वर अरविंदासव (DHOOTPAPESHWAR ARVINDASAV)
  4. मुल्तानी अरविंदासव (MULTANI ARVINDASAV)
  5. दिव्य अरविंदासव (DIVYA PHARMACY)
  6. स्वदेशी अरविंदासव (SWADESHI ARVINDASAV)

Read more Articles

2 thoughts on “अरविंदासव: बच्चो से लेकर बुजुर्गो तक की 10 बीमारियों का एक आसान उपाय

Comments are closed.