TRIGHAN KE FAYDE HERBAL ARCADE
औषधी दर्शन

ट्रायघन: फायदे, सेवन TRIGHAN: Benefit, dose, content

ट्रायघन का परिचय Trighan ka parichay

ट्रायघन क्या हैं ?? Trighan kya hai?

ट्रायघन दिव्य फार्मेसी द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक औषधि हैं | इसका मुख्य घटक गोखरू होता हैं | प्राचीन समय से ही गोखरू का प्रयोग कई रोगों में किया जाता हैं| यह औषधि वात, पित्त और कफ को नियंत्रित करती हैं | मूत्रकृच्छ, आमवात, पथरी, रक्तपित्त जैसी समस्याओं में यह औषधि लाभ पहुंचाती हैं | इसका सेवन करने से दुर्बलता का नाश होता हैं और शरीर बलवान बनता हैं |
यौन विकारो को समाप्त करने में भी इस औषधि की सहायता ली जा सकती हैं | त्वचा पर भी इसका प्रभाव सकारात्मक होता हैं तथा उचित मात्रा में सेवन करने पर किसी प्रकार का दुष्प्रभाव नही होता |

ट्रायघन का घटक Trighan ka ghatak

इस औषधि का मुख्य घटक गोखरू होता हैं |

TRIGHAN CONTENTS HERBAL ARCADE
TRIGHAN CONTENTS HERBAL ARCADE

ट्रायघन के फायदे Trighan ke fayde

ट्रायघन के फायदे herbal arcade
ट्रायघन के फायदे herbal arcade

आमवात में in gout

आमवात में जोड़ो में सूजन और असहनीय पीड़ा होती हैं | कभी कभी कुछ दिन बाद यह ठीक हो जाता हैं परन्तु शरीर की किन्ही और जोड़ो में सूजन और पीड़ा पुनः शुरू हो जाती हैं | इस स्थिति में सुबह के समय एडियों में भी दर्द की शिकायत आ सकती हैं |
इसे गठिया रोग भी कहा जाता हैं | यह शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाने के कारण होती हैं |इस रोग से राहत पाने के लिए इस औषधि का प्रयोग करना चाहिए | यह औषधि इस रोग से छुटकारा पाने में सहायता करती हैं और सूजन में भी राहत देती हैं |

मूत्रकृच्छ में

इस रोग में रोगी को मूत्र त्याग करने की तीव्र इच्छा होती हैं परन्तु वह मूत्र का त्याग नही कर पाता है| इसके कारण व्यक्ति को बहुत अधिक कष्ट का सामना करना पड़ता हैं | इस अवस्था में कभी कभी बूंद बूंद करके भी पेशाब आता हैं लेकिन बड़े कष्ट के साथ |
महिलाओं में यह समस्या कभी कभी गर्भाशय के अपने स्थान से हट जाने के कारण होती हैं | मूत्राशय में पथरी भी इसका कारण बनती हैं |
इस रोग में यदि इस औषधि का सेवन किया जाए तो काफी लाभ मिलता हैं और व्यक्ति को आराम मिलता हैं |

अन्य फायदे Trighan ke any fayde

  • अश्मरी (पथरी) में
  • रक्त पित्त में
  • यौन विकारो में
  • त्वचा पर सकारात्मक प्रभाव
  • बुखार में
  • पाचन तंत्र को मजबूती दें
  • दमा में सहायक

ट्रायघन की सेवन विधि Trighan ki sevan vidhi

• दो गोलियां दिन में दो बार गुनगुने जल के साथ लें |

ट्रायघन औषधि का सेवन करते समय रखी जाने वाली सावधानियाँ Trighan ke sevan ki savdhaniya

  • इस औषधि का प्रयोग करने से पहले चिकित्सक की सलाह जरुर लें |
  • इसमें गोखरू होता हैं जो गर्म तासीर का होता हैं अतः गर्भवती महिला को मुख्य रूप से इसका सेवन करने से पहले चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए |
  • औषधि का सेवन अधिक मात्रा में ना करें |

ट्रायघन औषधि की उपलब्धता Trighan ki uplabdhta

• दिव्य ट्रायघन (divya pharmacy )

फाइटर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *